जहाँ कदर न हो अपनी वहाँ जाना फ़िज़ूल है,
चाहे किसी का घर हो चाहे किसी का दिल।
1299 views
Likes Shares Copy Link

 

Google AdSense 320 x 50
Google AdSense 300 x 250